छिंदवाड़ा में तबाही की झड़ी, हर तरफ पानी ही पानी, सड़क मार्ग बंद, प्रशासन सतर्क, रेड अलर्ड जारी

छिंदवाड़ा। बीती रात से हो रही तेज बारिश के कारण जिले में हर तरफ पानी ही पानी है, नदी-नाले उफान पर है। निचली बस्तियां जलमग्न हैं, सड़क मार्ग बंद हैं। लगातार हो रही बारिश से लोगो में हाहाकार मचा है , जिले भर के नदी नाले उफान पर है शहर को जोडऩे बाले सभी मार्गो से संपर्क टूट गया है ! चारो तरफ तबाही और सिर्फ तबाही का आलम है! किसानो की मेहनत और किस्मत सब पानी -पानी हो गई है ! अधिकतर खेतो की फसले या तो अतिबर्षा में बह गई है या फिर खेतो में बिछ गई है ! जिले के सबसे बड़े बाँध माचागोरा डेम के सभी 9 गेट खोल दिए गए है! रात की तेज बारिश और डेम के पानी उसकी जद में आने बाले गाँवो में तबाही मचा दी है ! शहरी क्षेत्रो में निचली बस्ती के अलाबा भी अनेको जगहों , कालोनियों में निवासरत लोगों के घरो में पानी घुस गया है !

अचानक आई इस आपदा ने जिला प्रशासन के हाथ पैर फुला दिये ! जिले के माचागोरा सिंगोडी , फुलेरा , तुर्की खापा ,उमरेठ, कंहरगाँव , अम्बामाली, चौरई ब्लाक के अनेकों गांवों के बुरे हाल है ! छिन्दवाड़ा जिला जलमग्न हो गया। शहर एवं जिले की सीमाओं पर आवगमन का रास्ता बंद है ! प्रशासन ने रेड अलर्ट जारी किया ! कालीरात नदी के पुल के ऊपर से पानी बह रहा है पानी, इसी तरह सिंगोढ़ी पुल से 5 फिट पानी ऊपर बह रहा है ! परासिया में लगातार हो रही बारिश से पिपरिया रोड रेल्वे पुल पर भरा पानी, आवागमन बंद लोगों के मकानों मे घुसा पानी समान बहा लोगों को सुरक्षित दूसरे स्थान पहुचाया गया !
छिंदवाड़ा नरसिंहपुर नेशनल हाईवे पर स्थित सिंगोडी पेंच नदी के पुल से ऊपर पानी बह रहा है, जिसे देखने वालों का लगा हुजूम लगा हुआ है। नेशनल हाई वे मार्ग बंद हो गया है, जिससे छिंदवाड़ा का नरसिंहपुर से संपर्क टूट गया है। यहां प्रशासन मौके पर मौजूद , कन्हर गांव डेम खतरे के निशान के ऊपर तक भर गया है। ओवर फ्लो से जल लगभग 4-5 फ़ीट ऊपर से बह रहा है। ग्राम रोहनाकला के ढाना को एवं निचले क्षेत्र के लोगो को सुरक्षित जगह में जाने के लिए प्रशासन ने अलर्ट जारी कर दिया है। छिंदवाड़ा नरसिंहपुर नेशनल हाइवे मुख्य मार्ग बंद ,पेंच नदी पुल के ऊपर से जा रहा है वारिश का बेहताशा पानी आवागमन पूर्ण रूप से बंद। प्रसिद्ध पेंच नदी का हाथी पत्थर डूबा ,वाहनों का लगा लंबा जाम ,पुल के ऊपर से पानी बहने से रेलिंग भी हुई क्षतिग्रस्त भारी बहाव का विहंगम दृश्य लोगो की माने तो पुल भी हो सकता है क्षतिग्रस्त

जिले में हो रही लगातार बारिश से फसलों को काफी नुकसान हुआ है। बारिश के कारण जिला मुख्यालय का सड़क संपर्क टूट गया है, जिस कारण 150 छात्र पेपर देने नहीं पहुंच पाए हैं। जिले भर के बच्चे छिंदवाड़ा मुख्यालय पर आकर पेपर देने वाले हैं घर से निकले बच्चे टोल नाको पर फस गए है, इन छात्रों को 2 बजे तक परीक्षा केंद्र पर पहुंचना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *