21 हजार विद्यार्थी गीता जयन्ती प्रतियोगिता से हुए लाभान्वित

छिन्दवाड़ा। संस्कृत पुस्तकौन्नति सभा द्वारा संचालित संत श्री आषारामजी आश्रम खजरी मे गीता जयंती कड्डे उपलक्ष्य मे प्रतियोगिता का आयोजन संपन्न हुआ। प्रतियोगिता में शहर के बहुत सारे विद्यालयों के छात्र छात्राओं ने भारी संख्या मे भाग लिया। हमारे शास्त्रों में गीता गंगा एवं गाय का विषेष महत्व है। विद्यार्थियों में श्रीमद भगवत् गीता के ज्ञान का सिंचन हो इस उद्देष्य की पूर्ति हेतु प्रतियोगिता का आयोजन प्रतिवर्ष किया जाता है। समिति द्वारा विजेता विद्यार्थी को 1500 रू. उपविजेता को 1000 रू. तथा तृतीय स्थान प्राप्त करने वाले विद्यार्थी को 500 रू. का नगद पुरस्कार प्रदान किया गया। सभी सम्मिलित होने वाले विद्यार्थीयों को कुछ न कुछ पुरस्कार जिसमें संत साहित्य आदि मुख्य रूप से प्रदान किये गये । इस प्रतियोगिता में शहर के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों के विद्यालयों में भी छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। समिति से प्राप्त जानकारी से ज्ञात हुआ कि इस प्रतियोगिता में पूरे जिले से लगभग 21 हजार विद्यार्थी लाभान्वित हुए है। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सेवानिवृत्त जिला सत्र न्यायाधीश केशव प्रसाद तिवारी, व्यंकट अरावला (अमेरिका), डॉ. निर्जला पटले मुख्य रूप से उपस्थित थे । इस दैविय कार्य में खजरी आश्रम के संचालक जयराम भाई केन्द्रीय गुरूकुल समिति की दर्षना खट्टर, गुरूकुल के प्रभारी सुषील सिंह परिहार, समिति के अध्यक्ष मदन मोहन परसाईं, युवा सेवा संघ के अध्यक्ष दीपक डोईफोडे, हर्षुल रघुवंषी, सुखदेव मानकर, विशाल चउतरे, सोमेश, भुपेष पहाड़े, अंकित ठाकरे, आदि ने अपनी सेवायें दी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *